Sunday, September 4, 2016

Happy Ganesh Chaturthi



Thursday, September 1, 2016

सास की प्रोडक्ट


पत्नि, पति से लड़ रही थी….
पति ने तंग आकर अपनी सास को मोबाइल से मैसैज किया :
आपका प्रोडक्ट मेरे मुताबिक नहीं चल रहा है,
इसके प्रोडक्शन में in-built कई त्रुटियाँ है जो मुझे
डिलीवरी के समय नहीं बताई गई थीं
अत: मैं इसे लौटाकर आप से एक्सचेंज की डिमांड करता हूँ….!
सास का तुरंत बिंदुवार प्रत्युत्तर आया :
1. वारंटी खत्म हो चुकी है
2. रिफंड या एक्सचेंज जैसी कोई पोलिसी नहीं हैं
3. प्रोडक्ट की परफोरमंस बेहतरकरना आपके ही हाथ में हैं
4. प्रोडक्ट को यूज करने के नियम कायदे और सावधानियाँ
डिलिवरी से पूर्व आपकोफेरों के समय स-विस्तार बता दिये गये थे
5. अब वैसे भी कंपनी ने नया प्रोडक्ट बनाना बंद कर दिया हैं
अतः इसी प्रोडक्ट से “Handle With Care”
के साथ जीवन यापन करने की सलाह दी जाती है…!
शुभेछु
आपकी सास ,
आख़िरी सांस तक


जालिम दुनिया

एक आदमी एक दस साल के लड़के के साथ नाई की दुकान पर पहुंचा
और नाई से बोला कि उसे पास ही कहीं जरुरी काम से जाना है....
.
.
इसलिये वो पहले उसकी कटिंग कर दें,फिर उसके बाद लड़के की कटिंग कर दे..
.
.
नाई ने पहले उसकी कटिंग कर दी तो उसने बालक को अपनी
ज़गह कुर्सी पर बिठाया, उसके सिर पर प्यार से हाथ फ़ेरा और कहा...
"आराम से कटिंग कराना, अंकल को तंग न करना..."
.
.
.
.
इतना कहकर वो वहां से चला गया
.
नाई ने लड़के की कटिंग की, उसे कुर्सी से उतारा और कहा,...
.
"तू उधर बैठ जा, बेटा, तेरे डैडी अभी आते होंगे..."
..
.
लड़का: अंकल वो मेरे डैडी थोड़े ही थे...!
.
नाई: तो अंकल होंगे, बेटा...???
.
लड़का: नहीं...!
.
..
नाई: अबे तो कौन थे वो....?
.
लड़के: मुझे क्या पता कौन थे,
.
मैं तो गली में खेल रहा था कि वो आकर बोले कि फ़्री में कटिंग करायेगा ?
.
मैंने कहा, "कराऊंगा" और मैं उसके साथ यहां चला आया....
जालिम दुनिया ने नाई को भी नहीं छोडा



Tuesday, August 30, 2016

BMW



बॉस की नयी BMW कार देख के वर्कर खुश हो कर बोला :- 
.
वाह बॉस....क्या बढ़िया गाड़ी है..!
.
बॉस ने उसके कंधे पर हाथ रख कर कहा :-
तू अगर इसी तरह ईमानदारी से काम करेगा,
जी लगा के मेहनत करेगा,
समय पे आएगा,
छुट्टियां नहीं लेगा,
ओवर टाइम करेगा और टारगेट पूरे करेगा तो.....
अगले साल मैं इससे भी अच्छी गाड़ी लूंगा..!!



Saturday, August 27, 2016

Bhai Bhai.....

कमलेश (मित्र से श्याम से ) - यार मेरी पत्नी तो एकदम पागल है | हमेशा साड़ियों की ही फरमाइश करती रहती हैं | परसों एक साड़ी लाने को कह रही थी | आज सुबहफिर एक साड़ी मांग रही थी |

श्याम - अजीब बात हैं | वह इतनी साड़ियों का क्या करती हैं ?

कमलेश - पता नहीं | मैंने कभी साड़ी लाकर तो दी नहीं |

Tuesday, August 23, 2016

उंगली की कीमत


वकील – तुम्हारी उंगली रेल के दरवाजे से दबकर कट गई
और इसके लिए तुम रेलवे पर पचास हजार रुपये
हरजाने का दावा करना चाहती हों … ?
स्त्री – जी हां ..!!
वकील – लेकिन यह किस प्रकार साबित किया जाएगा
कि तुम्हारी उंगली की कीमत पचास हजार रुपये थी ?
स्त्री – क्योंकि उस उंगली पर ही मैं अपने पति को नचाया करती थी ,
और मेरे पति अपनी पूरी तनख्वाह पचास हजार रूपये
मेरे हाथ में थमा देते थे .


सिर पर घाव


संता अपनी पत्‍‌नी के साथ किसी की शादी में गया।
थोड़ी देर बाद पत्‍‌नी ने संता को किसी महिला से घुल-मिलकर हंसते हुए बातें करते देखा।
संता की पत्‍‌नी- ये दवाई मैं घर पहुंचकर तुम्हारे सिर के घाव पर लगा दूंगी।
संता- लेकिन मेरे सिर में घाव कहां है?
संता की पत्‍‌नी- अभी हम घर भी कहां पहुंचे हैं?


Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...